2017, മാർച്ച് 18, ശനിയാഴ്‌ച













 

SSLC EXAMINATION, MARCH 2017
Third Language
Hindi Prepared by
Asok kumar N.A
GHSSPerumpalam
Alappuzha (dt) Mob: 944737 8576 ashokpatanjalikumar@gmail.com
Std X Answer key
Qn. No.
Value Point / Indicators
Score/per point
Total
Score
1 चार्ली की मासूमियत से प्रभावित था । (सही उत्तर )
1
1
2
आशय समझकर उत्तर लिखा है।
उत्तर लिखने का प्रयास किया है।
2
1


2
3
प्रसंग के आधार पर अपने विचारों को जोड़कर आकर्षक रूप से डायरी लिखा है।

प्रसंग के आधार पर अपने विचारों को जोड़कर डायरी लिखा है।
प्रसंग के आधार पर डायरी लिखा है।
डायरी लिखने की कोशिश की है।
4


3

2
1



4
4 भूमंडल सूखा रहता
1
1
5 आशय समझकर दो पंक्तियों को चुनकर लिखी है।
आशय समझकर एक पंक्ति लिखी है।
(जीवजंतु क्या प्राणिमात्र भी
नहीं जन्म कोई ले पाता ।)
2

1

2
6
पानी की महत्व का संदेश देते हुए उचित रूप-संविधान के साथ आकर्षक रूप से पोस्टर
तैयार किया है।
उपरुक्त मुद्दों में से एक को छोड़कर पोस्टर तैयार किया है।
अंशिक रूप से मुद्दों का पालन करके पोस्टर तैयार किया है।
पोस्टर तैयार करने का प्रयास किया है।

4

3

2
1





4
7. महीनों बाद घर लौटने का समय आया है। (सही उत्तर )
1
1
8. पशुचारकों के महीनों तक के पहाड़ी जीवन- विषय पर वस्तुनिष्ठ रूप में दत्तों को जोड़कर टिप्पणी लिखी है ।
प्रस्तुत विषय पर अंशिक रूप से टिप्पणी लिखी है।
2






9. अंश के आधार पर समग्र रूप से स्थान, समय , परिवेश ,पात्रों की आयू , चाल-चलन
हाव-भाव आदि को और उचित संवादों को जोड़कर पटकथा लिखी है।
अंश के आधार पर स्थान, समय , परिवेश ,पात्रों की आयू , चाल-चलन
हाव-भाव आदि को और उचित संवादों को जोड़कर पटकथा लिखी है।
आँशिक रूप से पटकथा लिखी है।
पटकथा लिखने की कोशिश की है।
3

2

1

3
2

1


3






3
10.
प्रसंगानुकूल , स्वाभाविक भाषा में कल्पना करके वार्तालाप लिखा है।
प्रसंगानुकूल , स्वाभाविक भाषा में वार्तालाप लिखा है।
प्रसंगानुकूल वार्तालाप लिखा है।
वार्तालाप लिखने की कोशिश की है।


4
3
2
1



4
11. कई लोग मुझे बुलाने लगे ।

1

1
12. दीवार - भीत
1
1
13. अकाल में चूहों को खाने केलिए कुछ भी नहीं मिला था।
इसलिए उनकी हालत बहूत दयनीय थी।
1


1
14.
कविता का परिचय देते हुए उचित शीर्षक के साथ उचित भाषा में पंक्तियों का विश्लेषण करके आस्वादन टिप्पणी लिखी है।
उपज में टिप्पणी के उपयुक्त सूचक आँशिक रूप से है।
टिप्पणी लिखने का प्रयास किया है।


3
2
1



3


15.
और वैसे भी मैं तो पराई अमानत हुँ - गुठली तो पराई है।
दुनिया सच में बहूत छोटी है दोस्तों - जैसलमेर
ड्राईवर ने खच्च से ब्रेक लगाया - उँट बनाम रेलगाड़ी

1
1
1


3

16. बेला की सिर पर पट्टी बाँधी थी ।

1

1
17.
नीम के पेड़ की छाया में कबूतर घायल पड़ा था।
1

1


18.

घटना का वर्णन करके उचित भाषा में पत्र की रूपरेखा का पालन करते हुए मित्र के नाम पत्र लिखा है।
घटना का वर्णन करके पत्र की रूपरेखा में मित्र के नाम पत्र लिखा है।
कल्पना करके पत्र लिखा है।
पत्र लिखने का प्रयास किया है।



4
3
2
1




4